MessagesNo Comments

image

न जाने कहा चले गए वो दिन
जहा किसी को कट्टी बोलते ही
उसे अपनी गलती का
अहसास हों जाता था.ll

Comment closed!